रोग जाने | लाली की शादी में लड्डू दीवाना | Rog Jaane | Laali Ki Shaadi Mein Laddoo Deewana


Song : Rog Jaane (Rahat Version) 
Movie: Laali Ki Shaadi Mein Laaddoo Deewana 
Singers: Rahat Fateh Ali Khan, Palak Muchchal 
Lyrics: Dr. Sagar 
Music: Vipin Patwa 

मैंने सोचा ना था 
मोड़ ये आएगा यहाँ 
ऐसे धागों से मुझको 
जोड़ जायेगा यहाँ

हम्म लाख मैं मनाऊं लेकिन 
मेरी कहाँ सुनता है
दिन में ही बैठे बैठे 
ख्वाब कहीं बुनता है 
झूठा दिलासा देके 
जान ले गया 

रोग जाने कैसा 
ये अनोखा दे गया 
मुझ में ही रहके हो 
दिल ये धोखा दे गया 

जाने कैसी मुश्किल है ये 
कोई तो मुझको बतलाये 
हर घडी अब तू ही नज़र आये 
हा जाने कैसा मंज़र है ये 
ख्वाहिशे मुझको भरमाये 
मेरे कदमो को यूँ बहकाये 

ये कैसी राहों पे मैं चल रहा हूँ
 हो मुझको न मेरा पता चल रहा 
रोग जाने कैसा ये अनोखा दे गया 
मुझ में ही रहके दिल ये धोखा दे गया 

अब तेरी बाहों में ये सारा जहाँ 
है मंजिल यहीं है जब तू दरमिया है 
हो मेरे अरमा मेरे बस में नहीं है 
जाने अब कैसी ये सर दरमियाँ है 
हो अब जाके पूरी ये मन्नत हुयी 

दुनिया ये मेरी जैसे जन्नत हुयी 
रोग जाने कैसा ये अनोखा दे गया 
हा मुझ में ही रहके दिल ये धोखा दे गया 

मैंने सोचा ना था 
मोड़ ये आएगा यहाँ 
ऐसे धागों से मुझको 
जोड़ जायेगा यहाँ

रोग जाने कैसा ये 
अनोखा दे गया 
मुझ में ही रहके 
दिल ये धोखा दे गया 
मुझ में ही रहके 
दिल ये धोखा दे गया

X--------X

Maine socha na tha 
Mod ye aayega yahan 
Aise dhago se mujhko 
Jod jayega yahan 
Maine socha na tha 
Mod ye aayega yahan 
Aise dhago se mujhko 
Jod jayega yahan 

Hmm laakh main manau lekin 
Meri kahan sunta hai 
Din mein hi baithe baithe 
Khwaab khain bunta hai 
Jootha dilasaa deke 
Jaan le gaya 
Rog jaane kaisa 

Ye anokha de gaya 
Mujh mein hi rehke 
Dil ye dhokha de gaya 
Aa aa jaane kaisi mushkil hai ye 
Koi to mujhko batlaye 
Har ghadi ab tu hi nazar aaye 
Haa jaane kaisa manzar hai ye 
Khwahishe mujhko bharmaye 
Mere kadmo ko yun behkaye 

Umm Ye kaisi raahon pe 
Main chal raha 
Hoo mujhko na mera 
Patta chal raha 

Rog jaane kaisa ye 
Anokha de gaya 
Mujh mein hi rehke 
Dil ye dhokha de gaya 

Ab teri baahon mein ye 
Saara jahan hai manzil 
Yahin hai jag to dar mila hai 
Ho mere armaa mere 
Bas mein nahi hai 
Jaane ab kaisi ye 

Sar darmiyaan hai 
Ho ab jaake poori ye 
Mannat huyi 
Ummm duniya ye meri jaise 
Jannat huyi 

Rog jaane kaisa ye 
Anokha de gaya 
Mujhe mein hi rehke 
Dil ye dhokha de gaya 
Maine socha na tha 
Mod ye aayega yahan 
Aise dhago se mujhko 
Jod jayega yahan 

Rog jaane kaisa ye 
Anokha de gaya 
Mujhe mein hi rehke 
Dil ye dhokha de gaya 
Maine socha na tha 
Mod ye aayega yahan 
Aise dhago se mujhko 
Jod jayega yahan 

Post a Comment

0 Comments