नैनों के पोखर | लाली की शादी में लड्डू दीवाना | Nainon ke Pokhar | Laali ki shaadi mein ladduu Deewana


Song - Naino Ke Pokhar
Music - Vipin Patwa
Singers - Mohd Irffan & Vipin Patwa
Lyricist - Dr. Sagar


उलझी सी एक डोर है कोई 
ख़ामोशी में शोर है कोई 
किसको ये बतलाये 
क्या दिल पूछे अब मेरा 

पलकों के झरने से 
क्यों फूटते हैं
नैंनों के पोखर 
क्यों सूखते हैं 

अश्कों में सपने 
बह जाते हैं क्यों 
वादे अधूरे 
रह जाते हैं क्यों

क्यों होता है 
एहसास खोने का 
क्यों होता है
मैं जानू न 

क्यों होता है 
गम किसी के खोने का 
क्यों होता है 
मैं जानू न 

साँसे बेगानी हो गयी है 
धड़कन परायी सी लगे 

सारी फिजाओं में यहाँ घुल 
कोई रुसवाई सी लगे 

ख्वाबों के मोती 
क्यों टूटते हैं 
खुशियों के मौसम 
क्यों रुठते हैं
बिन बोले नैना 
कह जाते हैं क्यों
अल्फाज़ होटों पपे 
रह जाते हैं क्यों

क्यों होता है एहसास खोने का 
क्यों होता है मैं जानू न 
क्यों होता है...
गम किसी के खूने का 
क्यों होता है...

उलझी सी एक डोर है कोई 
ख़ामोशी में शोर है कोई 
किसको ये बतलाये 
क्या दिल पूछे अब मेरा 

X-----------------------X


Uljhi si ek dor hai koi

Khamoshi mein shor hai koi

Kisko ye batlaye
Kya dil puchhe ab mera

Palkhone se zarne
Kyun phutte hai
Naino ke pokhar
Kyun sukhte hai

Ashkon mein sapne
Beh jaate hai kyun
Waade Adhure
Reh jaate hai kyun..

Kyun hota hai
Ehsaas khone ka
Kyun hota hai
Main jaanu na

Kyun hota hai
Gham kisi ke khone ka
Kyun hota hai
Main jaanu na

Saanse begaani ho gayi hai
Dhadkan parai si lage

Saari fizaao mein yahaan ghul
Koi ruswaai si lage

Khwaabon ke moti
Kyun tut-te hai
Khushiyon ke mausam
Kyun ruthate hai
Bin bole naina
Keh jaate hai kyun
Alfaaz hothon pe
Reh jaate hai kyun

Kyun hota hai ehsaas khone ka
Kyun hota hai main jaanu na
Kyun hota hai
Gham kisi ke khone ka
Kyun hota hai main jaanu na

Uljhi si ek dor hai koi
Khamoshi mein shor hai koi
Kisko ye batlaye
Kya dil puchhe ab mera


Post a Comment

0 Comments