NH 10

फिल्म-  NH 10
गाना- काँच की नींद आई (kaanch ki neend aayi)
संगीतकार- संजीव दर्शन
गीतकार- कुमार 
गायक- कनिका कपूर, दीपांशु पंडित



काँच की नींद आई
पत्थर के ख्वाब लाई
काँच की नींद आई
पत्थर के ख्वाब लाई
जाने रब जाने कब
ज़ख्मो से मिल गए नैना

छिल गए नैना – 8

चिट्ठी जावे न जावे संदेसा
सजन गयो किस देस
टूटे दिल की जग भी नहीं सुनता
ना ही सुने दरवेश
टुकड़ा-टुकड़ा इन साँसों का
सीने में है बिखरा पड़ा
टुकड़ा-टुकड़ा इन साँसों का
सीने में है बिखरा पड़ा
सूखा हुआ समंदर
है आँखों के अन्दर
धड़कन चलेगी कैसे
दिल में चुभे है खंज़र
दिन काले-काले लगे
लगती है काली-काली रैना

छिल गए नैना -8

काँच की नींद आई
पत्थर के ख्वाब लाई
काँच की नींद आई
पत्थर के ख्वाब लाई
जाने रब जाने कब
ज़ख्मो से मिल गए नैना

छिल गए नैना -8


Post a Comment

0 Comments