बजरंगी भाईजान

फिल्म - बजरंगी भाईजान
गाना - सेल्फी ले ले रे
संगीतकार - प्रीतम
गीतकार - मयूर पूरी
गायक - विशाल ददलानी, प्रीतम, बादशाह 

जय जय बजरंग बली...
तोड़ दे दुश्मन की नाली 

जय जय बजरंग बली...
तोड़ दे दुश्मन की नाली 

धा तुना तुना बाजे डंका 
लन्दन हो या लंका 
गूंजे रे चारो ओर

आपकी रहे अनुकम्पा 
ना डर ना ही शंका 
नाचेंगे हम चोर
जोगी चलाये कोई जंतर 
खिलेगा तेरा अंतर 
तू आजा  गुरु मंतर 
ये  ले ले रे....

ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले  x2 

अपना पराया जो मिले झप्पी ले ले रे
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले  x2 
मस्ती की टंकी में तनिक डुबकी ले ले रे 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले  

चल बेटा सेल्फी ले ले रे 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
चल बेटा सेल्फी ले ले रे 
चल बेटा सेल्फी ले ले रे 

तू मेरी नौटंकी तू ही सनीमा 
तू मेरे साथ गर हो..
तू ही कमाई मेरी और तू ही बीमा
तू मेरे साथ गर हो..
रोकेगी  फिर क्या मुझे कोई सीमा 
तू मेरे साथ गर हो..
ओ रामा रामा 
तू मेरी नौटंकी तू ही सनीमा 
तू मेरे साथ गर हो 
मगन मन बोले 
मचक के हिचकोले 
तू ले ले रे 

ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
अपना पराया जो भी ले झप्पी ले ले रे
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले  
मस्ती की टंकी में तनिक डुबकी ले ले रे 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले  
चल बेटा सेल्फी ले ले रे 
चल बेटा सेल्फी ले ले रे 

 रैप 

बंदा मैं सीधा सादा
ना तेरा न तीन में
मेरे जैसा न होगा 
चाँद पे न चीन में 
किया वही जो मन को भाया
फिर किसी का कभी दिल न दुखाया
पवन पुत्र हनुमान की 
भक्ति में हूँ लीन मैं 
बाते न करता बड़ी बड़ी 
कोई न मारू तड़ी तड़ी 
मैं अपनी मस्ती में ही मस्त हूँ 
दुनिया देखे खड़ी खड़ी 
रहता हूँ मैं बस 
बजरंग बली की ही धुन में सदा 
दिल बड़ा रखते हैं जैसे हनुमान जी की  गदा 
जैसे हनुमान जी के सीने में 
तुम को सियापति राम मिलेंगे 
सीना देख के देखो मेरा तुमको हनुमान मिलेंगे 
फिर भैया 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले  x2 
हौले नहीं जोर से बोलो 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले  x2 
अपना पराया जो भी ले झप्पी ले ले रे
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले  
मस्ती की टंकी में तनिक डुबकी ले ले रे 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले 
ऐ ले ले ऐ ले ऐ ले  
चल बेटा सेल्फी ले ले रे 
चल बेटा सेल्फी ले ले रे 



फिल्म - बजरंगी भाईजान
गाना - तू चाहिए
संगीतकार - प्रीतम
गीतकार - अमिताभ भट्टाचार्य
गायक - आतिफ असलम


हाल ए दिल को सुकून चाइये
पूरी एक आरजू चाहिए 
जैसे पहले कभी कुछ भी चाहा नहीं 
वैसे ही क्यों चाहिए 

दिल को तेरी मौजूदगी का एहसास यूं चाहिए 
तू चाहिए..तू चाहिए 
शाम-ओ-सुबह तू चाहिए 
तू चाहिए..तू चाहिए 
हर मर्तबा तू चाहिए 

जितनी दफा..जिद हो मेरी..
उतनी दफा..हाँ, तू चाहिए..

कोई और दूजा क्यों मुझे 
न तेरे सिवा चाहिए 
हर सफ़र में मुझे
तू ही रहनुमा चाहिए 
जीने को बस मुझे
तू ही मेहरबान चाहिए 

सीने में अगर तू दर्द है 
ना कोई दावा चाहिए 
तू लहू की तरह 
रगों में रवां चाहिए 
अंजाम जो चाहे मेरा 
वो आगाज़ यूं चाहिए 

तू चाहिए..तू चाहिए 
शाम-ओ-सुबह तू चाहिए 
हर मर्तबा तू चाहिए 

जितनी दफा..जिद हो मेरी
उतनी दफा हाँ तू चाहिए 

मेरे ज़ख्मो को तेरी छुअन चाहिए 
मेरे शम्मा को तेरी अगन चाहिए 
मेरे ख्वाब के आशियाने में तू चाहिए 
मैं खोलूं जब आँखें सिरहाने भी तू चाहिए

--


फिल्म - बजरंगी भाईजान
गाना - सेल्फी ले ले रे
संगीतकार - प्रीतम
गीतकार - कौसर मुनीर  
गायक - अदनान सामी


तेरे दरबार में दिल थाम के वो आता है
जिसको तू चाहे, हे नबी तू बुलाता है

भर दो झोली मेरी या मोहम्मद
लौट कर मैं न जाऊँगा खाली

बंद दीदों में भर डाले आंसू 
सिल दिए मैंने दर्दों को दिल में  

जब तलक तू बना दे न तू बिगड़ी 
दर से तेरे न जाए सवाली 

भर दो झोली मेरी या मोहम्मद 
लौट कर मैं न जाऊँगा खाली 
भर दो झोली हम सब की 
भर दो झोली नबी जी 
भर दो झोली मेरी सरकार-ए-मदीना 
लौट कर मैं न जाऊँगा खली 

दम दम अली अली दम अली अली 

Post a Comment

0 Comments